5/24से6/16


24. राहुअतल  25.संकर्षण  26.नरक  छठा स्कंध प्रारंभ:
अजामिल
  1. अजामिलअजामिल
  2. #विष्णु दूत 
  3. #यमदूत
  4. #दक्ष स्तुति
  5. #नारद शाप
  6. #साठ कन्याओं का वर्णन
  7. #विश्वरूप देवगुरु
  8. नारायण कवच
  9. विश्व रूप वध, वृत्रासुर से हार, दधीचि के पास जाना
  10. वज्र निर्माण
  11.  वीरवाणी,
  12. वध
  13. ब्रह्म हत्या
  14. पूर्व चरित्र
  15. मंत्रोपनिषद
  16. संकर्षण दर्शन

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

14. वृत्रासुर का पूर्व चरित्र

15. मंत्रोपनिषद